Sunday, January 19, 2014

Lenard D. Moore

-Lenard D. Moore      


another year
we sort the clothes
to keep

एक और वर्ष
हम कपड़े छाँट रहे
कौन से रखे




new year’s rain
the watercolor painting
in the art case

नये वर्ष की वर्षा
वह वाटर कलर चित्र
आर्ट केस में




oppressive heat-
a road crew rakes hay
over grass seeds

दमघोंटू गर्मी
रोड गैंग डाल रहा घास
घास के बीज पर





pine straw
in the cedar chair
jazz ring tone

चीड़ की पतियाँ
सीडर की कुर्सी पर
जैज की रिंग टोन





 a cigarette’s glow
in the car beside us
autumn nightfall

एक सिगरेट की लौ
हमारी साथ वाली गाड़ी से-
पतझड़ की रात




hazy moon-
the gemologist locks
a case of diamonds

धुंधला चंद्रमा-
जुआरी बंद कर देता है
हीरों का डब्बा




jazz
in the Japanese print shop
slight chill

जैज़
जापानी छपाई की दुकान में
थोड़ी से ठंड





autumn flowers
in the hotel lobby
we take pictures

होटल की लौबी में
पतझड़ के फूल
हम फोटो खींचते हैं





white deer cave-
the darkness pours out
this autumn

श्वेत हिरन गुफा-
अंधकार बिखर रहा
इस पतझड़ में





beads of rain
on the bush clover
her cold finger

वर्षा के मोती
बुश क्लोवर घास पर
उसकी ठंडी उंगली





whiteness
of her tabi-
black sky

सफेदी
उसके मोजों की-
काला आकाश





upside down glasses
on the reception table
chrysanthemum

उलटे रखे गिलास
रिसेप्शन मेज़ पर
गुलदाउदी





a convoy of tanks
on the interstate
summer rain

टैंको का काफिला
हाइवे पर
गर्मी की वर्षा



Lenard D. Moore's  poems, essays, and reviews have appeared in numerous literary journals and newspapers.His poems have also appeared in more than one hundred anthologies. He is former President of the Haiku Society of America.  Moore is an Associate Professor of English at Mount Olive College, where he teaches Advanced Fiction Writing and African American Literature

poet_ldm@bellsouth.net

No comments:

Post a Comment