Wednesday, November 6, 2013

Haiku Sansaar

Haiku Sansaar is a new online bilingual journal, presenting haiku and its related genres. In this, our inaugural issue, we present the work of both international and Indian poets who are well-known among their own language groups but unknown outside it.
The journal’s chief goal is to foster understanding and communication among haiku poets and readers who speak different languages so that we can learn from each other. It is our hope that Haiku Sansaar will help to promote friendship in a truly international way.
We would like to take this opportunity to thank Mr. Denis Garrison for his hard work and also those fellow-poets and friends who have contributed to this issue.

हाइकु संसार में आपका स्वागत है। हाइकु संसार हाइकु का एक नवीन जरनल है जिसमें हाइकु और हाइकु सम्बंधित विधाएँ प्रकाशित होंगी। वैसे तो जालघर पर कई जरनल ऐसे हैं जिन में हाइकु के बारे में कुछ न कुछ तो मिल ही जाता है परन्तु इस जरनल में एक अन्तर यह है कि यह द्विभाषीय है और इसमें यही प्रयत्न रहेगा कि सब प्रस्तुतियाँ द्विभाषीय (अंग्रेज़ी-हिन्दी) ही हों।
इस उद्घाटनात्मक अंक में आप अन्तर्राष्ट्रीय व भारतीय कवियों की हाइकु रचनाएँ पढ़ पायेंगे। इसके अतिरिक्त आपको अगले अंकों में हाइबुन व रेन्कु और पुस्तक समीक्षाएँ भी पढ़ने को मिलेंगी। साथ-साथ यह भी कि इसमें बच्चों के लिये एक विशेष भाग होगा जहाँ बच्चे न केवल हाइकु पढ़ पायेंगे बल्कि उनके साथ चित्र डाऊनलोड करके चित्रों में रंग भी भर पायेंगे। आशा है हाइकु संसार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हाइकु मैत्री का प्रतीक बनेगा।
इस समय हम श्री डेनिस गेरिसन का आभार व्यक्त करते हैं और उन अन्य कवियों का भी जिन्होंने अपनी रचनाएँ इस अंक में प्रकाशित करने की अनुमति दी है।

Editors संपादक -

No comments:

Post a Comment